Press "Enter" to skip to content

फाइलों में नहीं होगा अंग्रेजी भाषा का इस्तेमाल, सीएम जयराम ने दिया फरमान

शासन की फाइलों पर अंग्रेजी भाषा का इस्तेमाल मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को पसंद नहीं आ रहा। सरकार को अत्यधिक अंग्रेजी की जगह अब सचिवालय की नोटशीटों पर हिंदी में टिप्पणी और आख्या लिखी हुई चाहिए।

फाइलों में नहीं होगा अंग्रेजी भाषा का इस्तेमाल, सीएम जयराम ने दिया फरमान

मुख्यमंत्री का मानना है कि हिंदी मातृ भाषा है, जिसका अधिक से अधिक प्रयोग शासकीय कामकाज में होना चाहिए। दशकों से अंग्रेजी में काम करने वाले अफसरों को अब हिंदी में नोटिंग लिखना आसान नहीं है।

HPPSC Recruitment 2018 – Naib Tehsildar & Tehsil Welfare Officer

अतिरिक्त मुख्य सचिव और मुख्यमंत्री की प्रधान सलाहकार मनीषा नंदा ने मुख्यमंत्री की ओर से आधिकारिक कामकाज की कार्यशैली में बदलाव लाने को कहा है। मुख्यमंत्री का कहना है कि सरकारी कार्य में अंग्रेजी भाषा का प्रयोग अधिक मात्रा में किया जा रहा है जबकि हिंदी हमारी मातृ भाषा है।

नोटशीट के नीचे चाहिए खाली जगह

इसलिए हिंदी भाषा का अधिक से अधिक प्रयोग सरकारी कार्य में किया जाना चाहिए। मुख्यमंत्री ने सभी अधिकारियों को सलाह दी है कि सरकारी कार्य में तकनीकी और कानूनी मामलों को छोड़ शेष फाइलों में अधिक से अधिक हिंदी उपयोग की जाए।

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों के फाइल की नोटशीट के अंत तक लिखने पर आपत्ति जताई है। सरकार चाहती है कि अधिकारी नोटशीट पर लिखते समय अपनी नोटिंग को पूरे पेज पर न लिखें।

HPPSC Recruitment 2018 – Naib Tehsildar & Tehsil Welfare Officer

हर शीट के नीचे कुछ खाली जगह होनी चाहिए। अधिकांश अधिकारी नीचे तक इसलिए भी लिखते हैं कि फाइल पर एक बार नोटिंग देने के बाद उसमें संशोधन की गुंजाइश न रहे।

इसे भी पढ़िए:

देवभूमि हिमाचल के 12 जिलों में स्थित प्रमुख मंदिर एवं उनसे जुड़ी महत्त्वपूर्ण जानकारी!

हिमाचल  — को प्राचीन काल से ही देवभूमि के नाम से संबोधित किया गया है। यदि हम कहें कि हिमाचल देवी-देवताओं का निवास स्थान है तो बिल्कुल भी गलत नही होगा। हमारे कई धर्मग्रन्थों में भी हिमाचल वाले क्षेत्र का वर्णन मिलता है। महाभारत, पद्मपुराण और कनिंघम जैसे धर्मग्रन्थों में इस भू-भाग का जिक्र कई बार आता है। इस सब से हम अनुमान लगा सकते है कि यह पवित्र भूमि आदि काल से ही देवी-देवताओं की प्रिय रही है। इसलिए ऐसी पावन धरा पर जन्म लेना और यहां जीने का अवसर मिलना सौभाग्य की बात है। आज हम हिमाचल के अलग-अलग जिलो में महत्वपूर्ण मंदिरों की… Read More!

Share Some Love

Comments

comments

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *